Connect with us

Speed India News

.

कुलपति ने जारी किया सीईटी-बीएड का रिजल्ट।

दरभंगा: ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सुरेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि दो वर्षीय बीएड एवं शिक्षा शास्त्री में नामांकन से संबंधित सारी प्रक्रियाएं 30 जून तक पूरी कर ली जाएंगी। एक जुलाई से नये सत्र की शुरुआत हो जायेगी। कुलपति ने गुरुवार को सीईटी-बीएड रिजल्ट वेबसाइट पर जारी करते हुए ये बातें कही।

कुलपति प्रो. सिंह ने कहा कि लगभग 16 हजार अभ्यर्थियों ने ओएमआर शीट पर अपना क्रमांक और प्रश्न-पुस्तिका सीरीज सही से अंकित नहीं किया था। इस कारण ऐसे अभ्यर्थियों के परिणाम प्रकाशित करने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ा। अगर अभ्यर्थी गलती नहीं किये होते तो परीक्षाफल चार दिन पूर्व ही प्रकाशित कर दिया जाता। लगातार चौथी बार सीईटी-बीएड के आयोजन का जिम्मा लनामि विवि को सौंपे जाने के लिए कुलाधिपति के प्रति आभार जताते हुए कुलपति ने कहा कि राजभवन के पदाधिकारियों समेत सभी सहभागी विश्वविद्यालयों के कुलपति, कुलसचिव, नोडल पदाधिकारी तथा परीक्षा कार्यों में शामिल पर्यवेक्षक, केंद्राधीक्षक, निरीक्षक, संबंधित जिला प्रशासन व पुलिस का पूर्ण सहयोग प्राप्त हुआ। राज्य नोडल पदाधिकारी प्रो. अशोक कुमार मेहता को सफलतापूर्वक परीक्षा संपन्न कराकर समय से पूर्व रिजल्ट जारी करने के लिए साधुवाद देते हुए कुलपति ने सभी सफल अभ्यर्थियों को शुभकामनाएं दी।

कुलसचिव प्रो. मुश्ताक अहमद ने कहा कि विश्वविद्यालय ने पूरी पारदर्शिता के साथ शांतिपूर्ण माहौल में परीक्षा का आयोजन और समय से पहले परीक्षाफल जारी किया है। पंजीयन, काउंसिलिंग और नामांकन की प्रक्रिया भी ससमय पूरी की जायेगी। प्रो. अहमद ने कहा कि लनामि विवि ने राज्य स्तर की परीक्षा सफलतापूर्वक आयोजित कर अपनी कार्यकुशलता सिद्ध की है। यह विश्वविद्यालय के लिए गौरव का क्षण है। प्रो. अहमद ने कहा कि बीएड कोर्स के प्रति छात्रों का बढ़ता रूझान इस बात का प्रमाण है कि बिहार के बेरोजगार युवक शिक्षा के क्षेत्र में रोजगार प्राप्त करना चाहते हैं।

दो वर्षीय सीईटी-बीएड-2023 के राज्य नोडल पदाधिकारी प्रो. अशोक कुमार मेहता ने कहा कि कुलपति के कुशल नेतृत्व के कारण ही परीक्षा का आयोजन और समय से परिणाम घोषित करने का कार्य सफल हो पाया। चार वर्षीय सीईटी-आईएनटी-बी.एड-2023 के राज्य नोडल पदाधिकारी प्रो. अरुण कुमार सिंह ने कहा कि माननीय कुलपति और कुलसचिव की कार्यकुशलता के कारण सीईटी-बीएड के कार्यों के संचालन में कोई कठिनाई नहीं हो रही है। कार्यों का सुचारू रूप से संचालन हो रहा है। इस अवसर पर वित्तीय परामर्शी कैलाश राम, सीईटी-बीएड की कोर कमेटी के सदस्य डॉ. अवनि रंजन सिंह, डॉ. ज्या हैदर, डॉ. मिर्जा रुहुल्लाह बेग, उप परीक्षा नियंत्रक प्रथम डॉ. ज्योति प्रभा, उप परीक्षा नियंत्रक द्वितीय डॉ. मनोज कुमार, विधि पदाधिकारी डॉ. सोनी सिंह, कुलपति के निजी सचिव मो. जमाल अशरफ, सीईटी-बीएड कार्यालय के सहायक कृष्ण मुरारी एवं अन्य लोग उपस्थित थे।

बीएड में 86.70 एवं शिक्षा शास्त्री में 75.26 फीसदी सफल दो वर्षीय बीएड के 86.70 फीसदी परीक्षार्थियों ने परीक्षा में सफलता हासिल की है। वहीं, शिक्षा शास्त्री के 75.26 फीसदी परीक्षार्थियों ने परीक्षा पास की है। दो वर्षीय बीएड के लिए कुल 184233 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। इनमें से 165676 अभ्यर्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए थे, जिसमें 143648 अभ्यर्थियों ने परीक्षा में सफलता प्राप्त की।

सफल अभ्यर्थियों में 87594 महिला और 78082 पुरुष शामिल हैं। वहीं, शिक्षा शास्त्री के लिए कुल 255 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। इनमें से 194 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए जिसमें से 146 सफल रहे। इनमें 76 महिला एवं 118 पुरुष शामिल हैं।

Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in .

September 2023
M T W T F S S
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
252627282930  
To Top